चोइथराम समूह के निदेशक रामचन्द डी. राजवानी का निधन

दादा रामचन्द राजवानी का अंतिम संस्कार कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत सोमवार, 12.10.2020 को किया जायेगा।

choithram-group-director-ramchand-rajwani-passes-away

“दादा रामचन्द का निधन व्यवसायिक जगत और प्रवासी समुदाय के लिए एक बहुत बड़ी क्षति है। वह एक महान, विनम्र और मानवीय प्रवृति के इंसान थे। ज्ञान और परोपकार से परिपूर्ण शख्सियत, जिन्होंने जीवन में सभी स्थितियों में अपने चेहरे पर मुस्कान बिखेरी।”

दुबई (विसं.)। अंतराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहनान कायम करने वाले भारतीय व्यापार समूह टी. चोइथराम एण्ड संस के वरिष्ठ निदेशक, वयोवृद्ध भारतीय व्यवसायी और परोपकारी रामचन्द धरमदास राजवानी का शुक्रवार, 9.10.2020 को दुबई में निधन हो गया। वह 90 वर्ष के थे।
लंबे समय तक टी. चोइथराम समूह के संस्थापक ठाकुरदास चोइथराम पागारानी के वरिष्ठ सहयोगी रहे रामचन्द राजवानी अपने पीछे पत्नी सीता, पुत्र मोहन, बेटी चंपा और चार पोते-पोतियां से भरा-पूरा परिवार छोड़ गये हैं।
टी. चोइथराम समूह के संस्थापक के बेटे और प्रबंध निदेशक के.टी. पागारानी ने बताया कि दादा रामचन्द राजवानी का अंतिम संस्कार कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत सोमवार, 12.10.2020 को किया जायेगा।

दादा रामचन्द चोइथराम समूह के एक मजबूत आधार स्तंभ रहे

पागारानी ने बताया कि दादा रामचन्द राजवानी चोइथराम समूह के एक मजबूत आधार स्तंभ थे। वह सभी से बहुत प्यार करते थे। दादा रामचन्द सन् 1947 में सिएरा लियोन में चोइथराम समूह के शुरुआती संघर्ष के समय में मेरे पूज्य पिताजी के साथ शामिल हुए। बाद में वह लंदन चले गये, जहां समूह का मुख्यालय स्थित है। इसके पश्चात् दादा रामचन्द सन् 1992 में दुबई पहुंचे और समूह का विस्तार किया।
प्रमुख भारतीय व्यवसायी और आईटीएल कॉस्मॉस ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. राम बक्षानी ने बताया कि “दादा रामचन्द का निधन व्यवसायिक जगत और प्रवासी समुदाय के लिए एक बहुत बड़ी क्षति है। मैं उन्हें पिछले 30 से अधिक वर्षों से जानता हूं। वह एक महान, विनम्र और मानवीय प्रवृति के इंसान थे। ज्ञान और परोपकार से परिपूर्ण शख्सियत, जिन्होंने जीवन में सभी स्थितियों में अपने चेहरे पर मुस्कान बिखेरी।”
आज विश्व भर में अपनी अलग पहचान बना चुके टी. चोइथराम समूह के खुदरा व्यापार की शुरुआत सन् 1943 में हुई, जब इसके संस्थापक ठाकुरदास चोइथराम पागारानी ने अपने पहले सुपरमार्केट टी. चोइथराम एंड संस की शुरूआत फ़्रीटाउन, सिएरा लियोन से की।

अल्प समय में ही टी. चोइथराम समूह ने वैश्विक उपस्थिति दर्ज की

इसके बाद सफलता के कारवां को आगे बढ़ाते हुए ठाकुरदास ने सन् 1974 में दुबई में पहला सुपरमार्केट खोलकर संयुक्त अरब अमीरात में अपने व्यापार के विस्तार की शुरूआत की। जल्द ही दुबई को अपने क्षेत्रीय आधार के रूप में इस्तेमाल करते हुए टी. चोइथराम समूह ने बहरीन, कतर और ओमान में अपने व्यापार का विस्तार किया।
आज टी. चोइथराम समूह एक अंतर्राष्ट्रीय नेटवर्क के साथ अपनी वैश्विक उपस्थिति दर्ज करवाता है, जिसका व्यापार पूरे अमेरिका, भारतीय उपमहाद्वीप, यूरोप, अफ्रीका, सुदूर पूर्व और मध्य पूर्व के अनेक देशों तक फैला हुआ है। समूह के 19 देशों में 16,000 कर्मचारी कार्यरत हैं। समूह आयात और निर्यात के साथ-साथ खाद्य सेवा, शिप चैनलिंग, विनिर्माण, खुदरा और थोक से लेकर अन्य सेवाओं की एक बड़ी श्रृंखला उपलब्ध करवाता है। साथ ही टी. चोइथराम समूह संयुक्त अरब अमीरात में कई प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय ब्रांडों का वितरक भी है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here