राष्ट्रीय सिन्धुपति महाराजा दाहरसेन ऑनलाइन ज्ञान प्रश्नोतरी प्रतियोगिता का हुआ शुभारंभ

सिन्धुपति महाराजा दाहरसेन के 1308वें बलिदान दिवस के उपलक्ष में होगा आयोजन

international-maharaja-daharsen-online-seminar-concludes

युवा पीढ़ी को राष्ट्ररक्षा में बलिदान हुए महाराजा दाहरसेन व उनके परिवार के त्याग के इतिहास की जानकारी के साथ अजमेर में स्थित सिन्धुपति महाराजा दाहरसेन स्मारक से सम्बंधित ज्ञान हेतु ऑनलाइन प्रश्नोतरी का आयोजन किया जा रहा है।

जयपुर (विसं.)। भारतीय सिन्धु सभा राजस्थान प्रदेश और सिन्धुपति महाराजा दाहरसेन विकास एवं समारोह समिति, अजमेर की अेार से ऑनलाइन राष्ट्रीय सिन्धुपति महाराजा दाहरसेन ज्ञान प्रश्नोतरी प्रतियोगिता-2020 का आज शुभारंभ किया गया। प्रतियोगिता के संयोजक प्रदेश भाषा व साहित्य मंत्री डाॅ. प्रदीप गेहाणी (जोधपुर) को बनाया गया है।

प्रदेश महामंत्री दीपेश सामनाणी ने बताया कि युवा पीढ़ी को राष्ट्ररक्षा में बलिदान हुए महाराजा दाहरसेन व उनके परिवार के त्याग के इतिहास की जानकारी के साथ अजमेर में स्थित सिन्धुपति महाराजा दाहरसेन स्मारक से सम्बंधित ज्ञान हेतु ऑनलाइन प्रश्नोतरी का आयोजन किया गया है। प्रतियोगिता सिन्धुपति महाराजा दाहरसेन के जीवन चरित्र पर प्रकाशित फोल्डर पर आधारित है।

national-sindhupati-maharaja-daharsen-online-knowledge-quiz-competition-inaugurated
सिन्धुपति महाराजा दाहरसेन

प्रदेशाध्यक्ष मोहनलाल वाधवाणी ने बताया कि प्रतियोगिता निःशुल्क है, प्रतिभागी भारतवर्ष का कोई भी नागरिक इसमें भाग ले सकता है। सम्मिलित होने के लिये 10 जून 2020 तक ऑनलाइन उतर भिजवाये जा सकते हैं। प्रतियोगिता सम्बन्धी कोई भी जानकारी के लिए मोबाइल नंबर 9214699906, 9460725909, 9413135031 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

प्रदेश संगठन महामंत्री डाॅ. कैलाश शिवलाणी ने बताया कि विजेताओं को प्रथम पुरस्कार रूपये 2100/-, द्वितीय पुरस्कार रूपये 1100/-, तृतीय पुरस्कार रूपये 500/- व सांतवना पुरस्कार (11) रूपये 250/- का होगा। ऑनलाइन प्रतियोगिता होने से विजेताओ का चयन लाटरी द्वारा ही होगा। आयोजन संस्था के पदाधिकारी ईनाम के हकदार नहीं होंगे।

प्रतियोगिता के सफल आयोजन हेतु आयोजित ऑनलाइन तैयारी बैठक में राष्ट्रीय मंत्री महेन्द्र कुमार तीर्थाणी, लेखराज माधू, समारोह समिति के कंवल प्रकाश किशनानी, मोहन तुलस्यिाणी, महेश टेकचंदाणी (अजमेर), नवल किशोर गुरनाणी (जयपुर), घनश्याम हरवाणी (श्रीगंगानगर), सुरेश कटारिया (उदयपुर), गुलाबराय मीरंचदाणी (भीलवाड़ा), गिरधारीलाल ज्ञानाणी (खैरथल-अलवर), मूलचंद तलरेजा (कोटा), टीकम पारवाणी, श्याम आहूजा (बीकानेर), राधाकिशन शिवनाणी (पाली), घनश्याम मेघवाणी (हनुमानगढ़) सम्मिलित हुए।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here