‘‘अचो त सिन्धी सिखूं ऐं सिन्धी लेखकनि सां जुडूं‘‘ ग्रुप में शामिल थियण वास्ते रजिस्ट्रेशन शुरू

तारीख़ 16 जूलाई, 2020 खां व्हाट्सएप ते नओं ग्रुप शुरू करे रहियां आहियूं।

registration-begins-for-the-whatsapp-group-acho-ta-sindhi-sikhoon-ain-sindhi-lekhakani-saan-judoon

हिन ग्रुप जो मक़सद सिन्धी भाषा सेखारण ऐं सिन्धियत जो माहोल पैदा करे सही रूप में सिन्धी भाषा, सिन्धू संस्कृतीअ ऐं सभ्यता जो ज्ञानु कराइणु, सिन्धी लेखकनि खे मंच मुयसरु कराइणु ऐं हिमिथाइणु आहे।

जयपुर (विसं.)। सिन्धु संस्कृति प्रसार संस्था (रजिस्टर्ड), जयपुर जी अध्यक्ष डॉ. माला कैलाश बुधायो त संस्था पारां भगवान श्री झूलेलाल साईं जो चालीहो उत्सव शुरू थियण जे पवित्र डींहु तारीख़ 16 जूलाई, 2020 खां व्हाट्सएप ते ‘‘अचो त सिन्धी सिखूं ऐं सिन्धी लेखकनि सां जुड़ूं‘‘ नाले जो नओं ग्रुप शुरू करे रहियां आहियूं।

हिन ग्रुप जो मक़सद सिन्धी भाषा सेखारण ऐं सिन्धियत जो माहोल पैदा करे सही रूप में सिन्धी भाषा, सिन्धू संस्कृतीअ ऐं सभ्यता जो ज्ञानु कराइणु, सिन्धी लेखकनि खे मंच मुयसरु कराइणु ऐं हिमिथाइणु आहे। हिन ग्रुप में रजिस्ट्रेशन तारीख़ 4 जुलाईअ, 2020 खां शुरू कयो थो वञे।

हिन ग्रुप जो संचालन संस्था जा संस्थापक गोबिन्दराम ‘माया‘ कंदा, जेके साहितकार ऐं ‘‘अचो त सिन्धी सिखूं कोर्स‘‘ जा लेखक ऐं डाईरेक्टर आहिनि। ग्रुप में रजिस्ट्रेशन ऐं संयोजन जो कमु शिक्षा सचिव मूलचन्द बसंताणी डिसंदा।

संस्था जे मुख्य संरक्षक सुंदर ठाकुर ऐं मुख्य संयोजक श्रीचंद दीवान हिन ग्रुप जी सफलता लाइूं शुभकामनाऊं डिनियूं आहिनि।

शिक्षा सचिव मूलचन्द बसंताणीअ बुधायो त हिन ग्रुप में रजिस्ट्रेशन कराइण वास्ते व्हाट्सएप ते पंहिंजा बायोडेटा, जंहिंमें नालो, पिता/पति जो नालो, शैक्षणिक योग्यता, उमिरि या जनम तारीख़, डाक जो पत्तो ऐं मोबाइल नम्बर लिखी संदनि पर्सनल मोबाइल नम्बर 9928294960 ते मोकिलींदा। इहो बि लिखंदा त हू शागिर्द आहिनि या लेखक आहिनि या श्रोता।

संस्थापक गोबिन्दराम ‘माया‘ बुधायो त ‘‘अचो त सिन्धी सिखूं ऐं सिन्धी लेखकनि सां जुड़ूं‘‘ ग्रुप में सिन्धी भाषा गाल्हाइणु, पढ़णु ऐं लिखण वास्ते नवां दाखि़ला कया वेंदा ऐं पुराणनि शागिर्दनि मां जेके चाहींदा उन्हनि खे ‘‘अचो त सिन्धी सिखूं‘‘ कोर्स जो रिवीजन करायो वेंदो। इनखां सिवाइ हिन ग्रुप में सिन्धी लेखकनि खे शामिल कयो थो वञे।

गोबिन्दराम ‘माया‘ बुधायो त सिन्धी लेखकनि खे हिन ग्रुप ज़रीए हिकु मंच मिलंदो, जंहिंते कवी पंहिंजूं लिखियल कविताऊं, ग़ज़लूं, गीत, बैत वग़ेरह बुधाए सघंदा ऐं बिया लेखक पंहिंजूं लिखियल आखाणियूं बुधाए सघंदा यानी हिक तरह सां अदबी गोष्ठीअ जी कमी पूरी थी सघंदी। लेखकनि खे सुठा श्रोता मिलंदा ऐं सिन्धी सिखण वारनि खे सिन्धी अदब ज़रीए सिन्धू संस्कृतीअ जी जाण मिलंदी ऐं सिन्धी साहित्य खे बुधण सां शागिर्दनि खे सिन्धी गाल्हाइणु सिखण जो वहिंवारिक ज्ञानु बि थींदो।

महासचिव सुरेश रामरख्याणीअ बुधायो त हिन ग्रुप में शामिल लेखक ऐं बिया मेम्बर महान सिन्धी लेखकनि, जीअं त सदाहयात् किशनचंद बेवस, हूंदराज दुखायल, नारायण श्याम, गोवर्धन भारती, ईश्वरचंद, पोपटी हीरानंदानी ऐं सुन्दरी उत्तमचंदानी ऐं बियनि जे लिखियल कविताउनि, ग़ज़लुनि, गीतनि, बैतनि ऐं आखाणियुनि वग़ेरह खे बि बुधाए सघंदा।

हिन ग्रुप में सिन्धी सिखण वारे कोर्स ऐं अदब खां सिवाइ बी का बि पोस्ट स्वीकार कोन थींदी। रचनाउनि जी आडियो या वीडियो रेकार्डिं करे लेखक सिधो ई पोस्ट करे सघंदा। अगिते हली ग्रुप में काव्य गोष्ठीअ जो बि आयोजन करायो वेंदो। ध्यानु रहे हिन ग्रुप में अनावश्यक या वाहियात या द्विअर्थी रचना पोस्ट करिण वारे खे ग्रुप मां तुर्तु हटायो वींदो, छो त ही ग्रुप रुगो सिन्धी भाषा ऐं अदब जे वाधारे वास्ते आहे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here