सिन्धी भाषा सर्टीफिकेट कोर्स परीक्षा का परिणाम जारी

दिसम्बर 2019 में प्रदेश के 18 जिलों के अलग-अलग केन्द्रों पर परीक्षा का आयोजन किया गया था

sindhi-language-certificate-course-exam-results-released

सिन्धी भाषा सर्टीफिकेट कोर्स परीक्षा में 989 विद्यार्थी सम्मिलित हुए और 958 विद्यार्थियों ने सफलता प्राप्त की। परीक्षा का परिणाम 97 प्रतिशत रहा। लाॅकडाउन समापन पर विद्यार्थियों को सर्टीफिकेट जारी किये जायेंगे।

जयपुर (विसं.)। भारतीय सिन्धु सभा की ओर से राष्ट्रीय सिन्धी भाषा विकास परिषद, नई दिल्ली के सहयोग से राज्य भर में सिन्धी भाषा सर्टीफिकेट कोर्स का आयोजन किया गया। सर्टीफिकेट कोर्स की परीक्षा का आयोजन माह दिसम्बर 2019 में किया गया था, जिसका परिणाम जारी किया गया है।

परिषद सदस्य व सभा के प्रदेश अध्यक्ष मोहनलाल वाधवाणी ने बताया कि प्रदेश भाषा साहित्य मंत्री डाॅ. प्रदीप गेहाणी के संयोजन में प्रदेश के सिन्धी शिक्षकों का प्रशिक्षण आयोजित कर राज्यभर में विद्यार्थियों का पंजीयन करवाया गया और 100 घण्टे का निरंतर कोर्स आयोजित करवाकर दिसम्बर 2019 में प्रदेश के 18 जिलों के अलग-अलग केन्द्रों पर परीक्षा का आयोजन किया गया।

प्रदेश भाषा साहित्य मंत्री डाॅ. प्रदीप गेहाणी ने बताया कि 84 सिन्धी शिक्षा केन्द्रों पर शिक्षा मित्रों द्वारा पढाई करवाई गई। परीक्षा में 989 विद्यार्थी सम्मिलित हुए और 958 विद्यार्थियों ने सफलता प्राप्त की जिससे 97 प्रतिशत परिणाम रहा। लाॅकडाउन समापन पर विद्यार्थियों को जल्द ही सर्टीफिकेट जारी किये जायेगें।

प्रदेश महामंत्री दीपेश सामनाणी ने बताया कि राष्ट्रीय मंत्री महेन्द्र कुमार तीर्थाणी, प्रदेश संगठन महामंत्री डाॅ. कैलाश शिवलाणी, पूर्व कुलपति मनोहरलाल कलरा, सुरेश कटारिया, लेखराज माधू के मार्गदर्शन में नवलकिशोर गुरनाणी, रमेश केवलाणी, हिना सामनाणी, गंगाराम ईसराणी (जयपुर), महेश टेकचंदाणी व रूकमणी वतवाणी (अजमेर), लालचन्द नखवा (अनूपगढ़), राधाकिशन शिवनाणी (पाली), ललित गुरूजी (सुमेरपुर), गिरधारीलाल ज्ञानाणी, प्रताप सिंह (खैरथल), घनश्याम मेंघवाणी (हनुमानगढ़), वीरूमल पुरसवाणी, गुलाबराय मीरचंदाणी (भीलवाड़ा), मोहिनी साधवाणी (उदयपुर), सुरेश खेसवाणी, टीकम पारवाणी, अनिल डेबला (बीकानेर), वासदेव बसराणी, राजा संगताणी (बालोतरा), दिलीप ज्ञानचंदाणी (ब्यावर), नरेश टहिल्याणी, चन्द्रप्रकाश खूबचंदाणी (कोटा), द्रोपदी केसवाणी (जोधपुर), मोहन आलवाणी (नसीराबाद), प्रदीप थानवी (कांकरोली), हेमनदास मोटवाणी (निवाई), अजमेेरर महानगर अध्यक्ष नरेन्द्र बसराणी, प्रदेश मंत्री (युवा) मनीष ग्वालाणी आदि ने सिन्धी भाषा सर्टीफिकेट कोर्स को सफल बनाने के लिये युवाओं व विद्यार्थियों में जुड़ाव किया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here