सिन्धु दर्शन तीर्थयात्रा नई तिथियों के साथ धूमधाम से संपन्न होगी – इन्द्रेश कुमार

बैठक में पूरे भारत से समिति के 36 पदाधिकारी शामिल हुए।

sindhu-darshan-yatra-will-be-celebrated-with-new-dates-with-great-pomp-indresh-kumar

सिन्धु दर्शन यात्रा समिति की ऑनलाइन बैठक को संबोधित करते हुए मार्गदर्शक इन्द्रेश कुमार ने सभी पदाधिकारियों को यात्रा की नई तिथियाँ व कार्यक्रम सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखकर बनाने को कहा।

नई दिल्ली (विसं.)। सिन्धु दर्शन यात्रा समिति की ऑनलाइन बैठक को संबोधित करते हुए यात्रा के प्रणेता व मार्गदर्शक इन्द्रेश कुमार ने कहा कि सिन्धु दर्शन तीर्थयात्रा पवित्र सिन्धु की भांति ही अविरल है, इसलिए यह यात्रा नई तिथियों के साथ धूमधाम के साथ संपन्न होगी। उन्होंने समिति के राष्ट्रीय पदाधिकारियों के साथ हुई इस ऑनलाइन बैठक में कार्यकर्ताओं को महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए।

दो सत्रों में चली इस बैठक में समिति के महामंत्री भूपेंद्र कंसल ने सभी के साथ कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न हुई परिस्थितियों पर व यात्रा संबधी सभी बिंदुओं पर व्यापक चर्चा की। बैठक में पूरे भारत से समिति के 36 पदाधिकारी शामिल हुए।

sindhu-darshan-yatra-will-be-celebrated-with-new-dates-with-great-pomp-indresh-kumar

प्रदेश प्रभारी महेन्द्र कुमार तीर्थाणी ने बताया कि प्रतिवर्ष 23 से 26 जून तक सिन्धु दर्शन तीर्थयात्रा का आयोजन किया जाता है, जिसमें देशभर से तीर्थयात्री सम्मिलित होते हैं। यात्रा के प्रणेता व मार्गदर्शक इन्द्रेश कुमार ने सभी पदाधिकारियों को यात्रा की नई तिथियाँ व कार्यक्रम सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखकर बनाने को कहा।

बैठक में समिति के अध्यक्ष मुरलीधर माखीजा, सिंधु भवन ट्रस्ट लेह के अध्यक्ष राधाकृष्ण भागिया, दिल्ली से कोषाध्यक्ष मनोज गोगिया, मंत्री वंदना पाठक, यात्रा प्रभारी जयकिशन गुप्ता, मीरा तोनगरिया, लेह से यात्रा प्रबंधक विजय छेलिंगप्पा, जम्मू से यात्रा प्रबंधक विक्रम रंधावा, सतीश मित्तल, पंजाब से प्रभारी सरदार परमजीत सिंह गिल, हिमाचल से प्रभारी ऋषि वालिया, चंडीगढ़ से यात्रा प्रबंधक विक्रम गुप्ता, विजय ऋषि, प्रिंस, उ.प्र. से प्रभारी एडवोकेट के.पी. कौशल, मन्नू जेसवाणी, राजस्थान से दिलबाग सिंह, मदनलाल शर्मा, गुजरात से प्रबंधक मुकेश लखवाणी, सिम्मी जगवाणी, म.प्र. से प्रबंधक राजेश वाधवाणी, सुरेन्द्र लछवाणी, पुनीत सांखला, नरेश तलरेजा, राजेश बालाणी, प्रकाश चितौड़ा, महाराष्ट्र से हरीश तलरेजा, कर्नाटक से वेकेंटेश मौर्या शामिल हुए। व्यवस्था व तकनीकी सहयोग कार्यालय मंत्री कमल खत्री का रहा।

1 टिप्पणी

  1. इसवर्ष 2020 में सिंधु दर्शन यात्रा स्थगित कर देनी चाहिए| पूरा ध्यान अगले वर्ष आयोजित होने वाले सिंधु कुंभ पर केंद्रित हो|

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here