ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण शिविर की ऑनलाइन कक्षाओं में विद्यार्थी ले रहे गहन रूचि

इस वर्ष प्रशिक्षण शिविर में देश के विभिन्न प्रदेशों से कुल 667 विद्यार्थियों ने पंजीयन कराया है।

students-taking-interest-in-online-classes-of-summer-training-camp

मातृशक्ति अध्यक्ष शोभा बसंतानी ने बताया कि इस वर्ष कुल 6 कोर्स ऑनलाइन सिखाए जा रहे हैं। जिनमें कुकिंग, पार्लर, मेहंदी, सिलाई, क्राफ्ट और नृत्य का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उक्त प्रशिक्षण व्हाट्सएप पर बनाए गए ग्रुप्स में भेजे जा रहे वीडियो के द्वारा दिया जा रहा है।

जयपुर (विसं.)। मातृशक्ति, महानगर जयपुर एवं भगवान झूलेलाल सेवा समिति, जयपुर द्वारा विगत 15 वर्ष से प्रत्येक वर्ष निःशुल्क ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण शिविर का आयोजन अनवरत रूप से किया जा रहा हैं। किन्तु इस वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण अपने घरों में सुरक्षित रहते हुए ऑनलाइन निःशुल्क ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण शिविर का प्रारंभ दिनांक 25 मई 2020 से किया गया है।

मातृशक्ति अध्यक्ष शोभा बसंतानी ने जानकारी देते हुए बताया कि इस वर्ष कुल 6 कोर्स ऑनलाइन सिखाए जा रहे हैं। जिनमें कुकिंग, पार्लर, मेहंदी, सिलाई, क्राफ्ट और नृत्य का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उक्त प्रशिक्षण व्हाट्सएप पर बनाए गए ग्रुप्स में भेजे जा रहे वीडियो के द्वारा दिया जा रहा है।

students-taking-interest-in-online-classes-of-summer-training-camp

बसंतानी ने बताया कि इस वर्ष प्रशिक्षण शिविर में देश के विभिन्न प्रदेशों से कुल 667 विद्यार्थियों ने पंजीयन कराया है। यह सभी विद्यार्थी अपने घरों में सुरक्षित रहते हुए 25 मई से 25 जून 2020 तक ऑनलाइन कक्षाओं के माध्यम से विभिन्न प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं।

मातृशक्ति, महानगर जयपुर की टीम में शामिल कविता सम्भनानी, पूनम खानचंदानी, कंचन भम्भानी, माधुरी सम्भनानी, नेहा सम्भनानी, लीना टिक्यानी और नैना सिंह द्वारा विद्यार्थियों को ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जा रहा है। सभी व्हाट्सएप ग्रुप्स में विद्यार्थी गहन रूचि ले रहे हैं और शिक्षकों द्वारा दिए सिखाए जा रहे प्रशिक्षण का निरन्तर अभ्यास कर रहे हैं।

मातृशक्ति अध्यक्ष शोभा बसंतानी का कहना है कि मातृशक्ति टीम का मुख्य उद्देश्य सभी विद्यार्थियों को उक्त प्रशिक्षण देकर आत्मनिर्भर और स्वावलंबी बनाना है और इस प्रयास में उन्हें मातृशक्ति, महानगर जयपुर की टीम का पूरा सहयोग मिल रहा है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here